सरदार वल्लभभाई पटेल पर 10 लाइन | 10 Line Essay on Ballabh Bhai Patel - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

मंगलवार, 26 अक्तूबर 2021

सरदार वल्लभभाई पटेल पर 10 लाइन | 10 Line Essay on Ballabh Bhai Patel

सरदार वल्लभभाई पटेल पर 10 लाइन 
10 Line Essay on Ballabh Bhai Patel
सरदार वल्लभभाई पटेल पर 10 लाइन | 10 Line Essay on Ballabh Bhai Patel



सरदार वल्लभभाई पटेल पर 10 लाइन 

  • सरदार पटेल का जन्म 31 अक्तूबर, 1875 को नाडियाड गुजरात में हुआ था।
  • वे भारत के प्रथम गृहमंत्री और उप-प्रधानमंत्री थे।
  • भारतीय राष्ट्र को एक संघ बनाने तथा भारतीय रियासतों के एकीकरण में उनकी महत्त्वपूर्ण भूमिका थी।
  • ध्यातव्य है कि स्वतंत्रता के समय विभिन्न रियासतों को भारतीय संघ में शामिल होने के लिये राज़ी करने में सरदार पटेल की मुख्य भूमिका थी।
  • उन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिये सामाजिक नेता के रूप में अथक प्रयास किये।
  • बारडोली की महिलाओं ने उन्हें सरदारकी उपाधि दी। जिसका अर्थ प्रमुख या नेताहोता है।
  • भारत को एकीकृत (एक भारत) और एक स्वतंत्र राष्ट्र बनाने में उनके महान योगदान के लिये उन्हें भारत की एकजुटता के वास्तविक सूत्रधार के रूप में जाना जाता है।
  • साथ ही उन्होंने आधुनिक अखिल भारतीय सेवा प्रणाली की स्थापना भी की। जिसके कारण उन्हें भारत के सिविल सेवकों के संरक्षक संत’ (Patron saint of India’s civil servants) के रूप में भी याद किया जाता है।