20 अक्टूबर का इतिहास: भारतीय एवं विश्व इतिहास में 20 अक्टूबर की प्रमुख घटनाएं - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

बुधवार, 20 अक्तूबर 2021

20 अक्टूबर का इतिहास: भारतीय एवं विश्व इतिहास में 20 अक्टूबर की प्रमुख घटनाएं

 20 अक्टूबर का इतिहास: भारतीय एवं विश्व इतिहास में 20 अक्टूबर की प्रमुख घटनाएं


20 अक्टूबर का इतिहास: भारतीय एवं विश्व इतिहास में 20 अक्टूबर की प्रमुख घटनाएं


1568 - अकबर ने चित्तौड़गढ़ पर आक्रमण किया।


1740 - मारिया थेरेसा आस्ट्रिया, हंगरी और बोहमिया की शासक बनी।


1774 - कोलकाता (तत्कालीन कलकत्ता) भारत की राजधानी बनी।


1822 - लंदन संडे टाइम्स का पहला अंक प्रकाशित।


1880 - एम्सटर्डम मुक्त विश्वविद्यालय की स्थापना।


1904 - चिली और बोलविया ने शांति और मित्रता की संधि पर हस्ताक्षकर किया।


1905 - रूस में 11 दिन तक चले ऐतिहासिक हड़ताल की शुरुआत हुई।


1946 - वियतनाम की डेमोक्रेटिक रिपब्लिकन सरकार ने 20 अक्टूबर को वियतनाम महिला दिवस के रूप में घोषित किया।


1947 - अमेरिका और पाकिस्तान ने पहली बार राजनयिक संबंध स्थापित किये।


1962 - चीन ने भारत पर हमला किया और अरुणाचल प्रदेश के रास्ते भारत के अंदर तक प्रवेश की कोशिश की।


1963 - दक्षिण अफ्रिका में नेल्सन मंडेला और आठ अन्य के खिलाफ मामला शुरु 1970- सैयद बर्रे ने साेमालिया को समाजवादी राज्य घोषित किया।


1991 - भारत के उत्तरकाशी में 6.8 तीव्रता के भूकंप से 1000 से ज्यादा लोगों की मौत।


1995 - संयुक्त राष्ट्र महासभा का विशेष स्वर्ण जयंती अधिवेशन आरम्भ।

श्रीलंका क्रिकेट टीम ने वेस्टइंडीज को हराकर शारजाह कप फाइनल ट्रॉफी अपने नाम किया।


1998 - मालदीव के राष्ट्रपति अब्दुल गयूम पांचवी बार पुन: राष्ट्रपति पद पर निर्वाचित।


2003 - बेटिकन सिटी में जीवन पर्यन्त दबे-कुचले वर्ग के लिए संघर्ष करने वाली ग़रीबों की मसीहा मदर टेरेसा को रोमन कैथोलिक चर्च की सर्वोच्च सत्ता पोप जॉन पाल द्वितीय का आशीर्वाद प्राप्त हुआ।


2004 - बांग्लादेश में तीन पूर्व सेनाधिकारियों को मौत की सज़ा मिली।

ब्रिटेन का प्रतिष्ठित साहित्य सम्मान एलन होलिंघर्स्ट को मिला।


2007 - अली लारीजानी के त्यागपत्र के बाद ईरान के विदेश उपमंत्री सईद जलाली नये प्रमुख परमाणु वार्ताकार बने।

अमेरिका के राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने म्यांमार के सैन्य शासकों के ख़िलाफ़ नये प्रतिबन्ध लगाने की घोषणा की।


2011 - लीबिया पर 40 साल तक राज करने वाले तानाशाह मोहम्‍मद गद्दाफी को गृहयुद्ध में मारा गया।