विश्व वेटलैंड दिवस 2 फरवरी :मध्यप्रदेश की रामसर साइट भोज वेटलैंड में पिछले 45 दिनों से चल रही पक्षी-गणना का समापन | MP Ramsar Site Bhopal - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

बुधवार, 2 फ़रवरी 2022

विश्व वेटलैंड दिवस 2 फरवरी :मध्यप्रदेश की रामसर साइट भोज वेटलैंड में पिछले 45 दिनों से चल रही पक्षी-गणना का समापन | MP Ramsar Site Bhopal

मध्यप्रदेश की रामसर साइट भोज वेटलैंड  

विश्व वेटलैंड दिवस 2 फरवरी :मध्यप्रदेश की रामसर साइट भोज वेटलैंड में पिछले 45 दिनों से चल रही पक्षी-गणना का समापन | MP Ramsar Site Bhopal




पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने विश्व वेटलैंड दिवस 2 फरवरी को मध्यप्रदेश की रामसर साइट भोज वेटलैंड में पिछले 45 दिनों से चल रही पक्षी-गणना का समापन किया। राज्य वेटलैंड भोपाल बर्डस्, वन विहार राष्ट्रीय उद्यान, राज्य वेटलैंड प्राधिकरण और वीएनएस नेचर सेवियर्स के संयुक्त तत्वावधान में आठ चरणों में हुई पक्षी गणना में देश के 200 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रतिभागियों में महाराष्ट्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, बिहार आदि राज्यों के वरिष्ठ वन अधिकारी, पक्षी विशेषज्ञ, पक्षी वैज्ञानिक, फोटोग्राफर्स, विद्यार्थी, और पक्षी प्रेमी शामिल हुए। प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री संजय शुक्ला विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

 

मध्यप्रदेश की रामसर साइट भोज वेटलैंड 

भोज वेटलैंड में हुई शरदकालीन पक्षी गणना में 207 प्रजातियों के पक्षियों की पहचान की गई। मंत्री श्री डंग ने प्रसन्नता व्यक्त की, कि इस बार भोपाल के वन विहार में प्रवासी पक्षियों में हजारों किलोमीटर की दूरी तय कर आने वाले दुर्लभ पक्षी भी शामिल हैं। प्रवासी पक्षियों में बार हेडेड गीज़, ग्रे लेग गीज़, रेड क्रेस्टेड पोचार्ड, कॉमन पोचार्ड, यूरेशियन विजन, नॉर्दन शोवलर, कॉमन कूट, कॉम्‍ब डक, रडी शेल्डक, कॉमन टील, लिटिल ग्रीब, स्पॉट बिल्ड डक, कॉटन टील, ग्रे हेडेड लैपविंग, कॉमन स्नाइप, रेड नेप्ड आइबिस, ग्लॉसी आइबिस, ब्लैक हेडेड आइबिस, पेंटेड स्टोर्क, ओपन बिल स्टोर्क, ब्लू थ्रोट, यूरेशियन राइनेक, ब्लैक रेड स्टार्ट, ब्लैक बिटर्न, चेस्टनट बिटर्न, लॉन्ग टेल्ड मिनिवेट, बूटेड वार्बलर, एशियन ब्राउन फ्लाईकैचर, ब्लैक हेडेड बंटिंग, रेड हेडेड बंटिंग, ब्राउन हेडेड गल, पलाश गल आदि की पहचान की गई।

 

दुर्लभ प्रजाति के पक्षी-वन विहार राष्ट्रीय उद्यान 

 

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान के सहायक संचालक श्री ए.के.जैन ने बताया कि गणना के लिए भोजवेटलैंड को 5 जोन में बॉटा गया। विशनखेड़ी से बीलखेड़ा, बम्होरी, छोटे तालाब से बैरागढ़, बोरवन तथा नीलबड़ से खजुरी। भोज वेटलैंड के किनारे स्थित वन विहार में इस बार दुर्लभ प्रजाति के प्रवासी पक्षी ग्रे लेग गीज़, बार हेडेड गीज़, ब्लैक बिटर्न, चेस्टनट बिटर्न, ग्रे हेडेड लेप विंग, पेरे ग्रीन फाल्कन और लॉन्ग टेल्ड मिनी वेट पक्षी भी उन्मुक्त विचरण करते हुए दिखे। वन विहार प्रबंधन द्वारा प्रवासी पक्षियों की सुरक्षा और देखभाल के हर साल बेहतर प्रबंध किये जाते हैं।

 

मंत्री श्री डंग द्वारा वेटलैंड का निरीक्षण

 

पर्यावरण मंत्री श्री हरदीप सिंह डंग ने आज भोज वेटलैंड के वन विहार में पक्षी-दर्शन के साथ वेटलैण्ड के अन्य स्थलों का पैदल भ्रमण किया। उन्होंने पर्यावरण विभाग के अधिकारियों से वेटलैंड के संरक्षण में किये जा रहे कार्यों की जानकारी ली।