आगरा में चर्बी और हड्डी से घी बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़,चांद बाबू सहित चार गिरफ्तार. - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

बुधवार, 23 दिसंबर 2020

आगरा में चर्बी और हड्डी से घी बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़,चांद बाबू सहित चार गिरफ्तार.

आगरा में चर्बी और हड्डी  से घी बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़,चांद बाबू सहित चार गिरफ्तार.


  • फैक्टरी संचालक चांद बाबू एवं  शैफी, इरशाद और ताहिर गिरफ्तार 
  • दो आरोपी शल्लो और शोहिल फरार. 
  • 23 रुपये किलो में तैयार करके 200 में बेचते थे 





उत्तर-प्रदेश में फर्जी मसाला फैक्ट्री के भंडाफोड़ के बाद अब एक नये मामले जिसमे जानवरों की चर्बी और हड्डियां उबालकर घी बनाया जा रहा था, ऐसा आरोप है. पुलिस और खाद्य विभाग की टीम को छापे में यहां से भारी मात्रा में तैयार नकली घी के अलावा जानवरों की हड्डियां, पैर और खुर भी मिले.



इंडिया टुडे रिपोर्टर अरविंद शर्मा के मुताबिक, ये फैक्ट्री आगरा के खंदौली कस्बे में चल रही थी. 17 दिसंबर को यहां छापेमारी हुई. पुलिस टीम ने फैक्ट्री संचालक सहित चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. दो आरोपी टीम को चकमा देकर फरार हो गए. बताया जाता है कि पुलिस टीम ने जब फैक्ट्री में छापेमारी की, तो वहां कथित तौर पर गैस के चूल्हे पर चर्बी उबाली जा रही थी. पुलिस के पहुंचते ही फैक्ट्री में काम कर रहे लोगों में भगदड़ मच गई.



पकड़े गए चार आरोपितों में एक फैक्ट्री का मालिक चांद बाबू है. उसके अलावा तीन कर्मचारी शैफी, इरशाद और ताहिर भी पकड़े गए हैं . सल्लो और सोहिल भाग निकले. एत्मादपुर, आगरा की सीओ अर्चना सिंह ने बताया कि फैक्ट्री से भारी मात्रा में पशुओं की चर्बी बरामद की गई है. बताया जा रहा है कि ये गिरोह आगरा सहित आसपास के जिलों में नकली घी की सप्लाई कर रहा था.आरोपियों को गिरफ्तार कर फैक्टरी को सील कर दिया गया है। फरार शल्लो और शोहिल की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।



छलेसर कट्टी खाने से लाते थे जानवरों की चर्बी

पुलिस के मुताबिक नकली घी बनाने की फैक्टरी चला रहे चांद बाबू ने पूछताछ में बताया कि वह छलेसर के कट्टी खाने से जानवरों के सींग और चर्बी टेंपो से रात में मंगाता था। सींग, खुर और चर्बी को भट्ठी पर पिघलाकर घी तैयार करते थे। यहां से फिरोजाबाद और सिकंदराराऊ के व्यापारी उनसे माल ले जाते थे।    



23 रुपये किलो में होता है तैयार, 200 में बिकता है

आरोपी चांद बाबू ने पुलिस को बताया कि छलेसर कट्टी खाने से चर्बी 18 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से खरीदता है। घी तैयार करने में कुल 23 रुपये प्रति किलोग्राम का खर्च आता है। जिसे वह व्यापारियों को 60 रुपये प्रति किलोग्राम बेचता है। यही घी व्यापारी डालडा में मिलाकर 200 प्रति किलोग्राम तक में बेचते हैं।