मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया स्व. श्री अटल जी की विशाल प्रतिमा का अनावरण - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

शुक्रवार, 25 दिसंबर 2020

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया स्व. श्री अटल जी की विशाल प्रतिमा का अनावरण


भारत रत्न स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी महामानव थे - मुख्यमंत्री श्री चौहानग्वालियर में बनेगा विशाल स्मारक

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल के शौर्य स्मारक चौराहे के पास देश पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती के अवसर पर उनकी विशाल प्रतिमा का अनावरण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्वर्गीय श्री वाजपेयी के भोपाल आगमन के अवसरों की चित्र प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर कहा कि भारत रत्न स्वर्गीय श्री वाजपेयी अद्भुत राजनेता थे। वे करोड़ो जनता के हृदय में राज करते है। वे व्यक्ति नहीं एक संस्था थे। स्वर्गीय श्री अटल जी कर्मठ कार्यकर्ता, कुशल संगठक, प्रशासक, वक्ता, कवि, लेखक और पत्रकार थे। इन सबसे ऊपर उठकर वे महामानव थे। वे गैरो को भी गले लगाने वाले हर दिल अजीज थे। उनका भारत के नव निर्माण में अतुलनीय योगदान था।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वर्गीय श्री अटल जी की प्रतिमा प्रदेश की राजधानी के हृदय स्थल पर लगायी गयी है। यह केवल प्रतिमा नहीं उनके जीवन दर्शन को प्रदर्शित करने का उपक्रम है। यहां पर स्व. श्री अटल जी के जीवन दर्शन को प्रदर्शित करने का पूरा प्रयास किया जाएगा। यह स्थान प्रकाश स्तम्भ और प्रेरणा कुंज के रूप में कार्य करेगा। हम सब उनके बताये रास्ते पर चलते रहेंगे। स्व. श्री अटल जी की यह प्रतिमा 12 फीट ऊँची और 1700 किलो वजनी है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया स्व. श्री अटल जी की विशाल प्रतिमा का अनावरण


ग्वालियर में भव्य स्मारक


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ग्वालियर में स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी के व्यक्तित्व, कृतित्व और जीवन दर्शन को प्रदर्शित करने के लिये विशाल स्मारक बनाया जायेगा। मध्यप्रदेश, स्व. श्री अटल जी की कर्मस्थली रहा है।

इस अवसर पर प्रोटेम स्पीकर श्री रामेश्वर शर्मा, सांसद और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष श्री वी.डी. शर्मा, चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग, संसद सदस्य साध्वी सुश्री प्रज्ञा ठाकुर, पूर्व महापौर श्री आलोक शर्मा तथा गणमान्यजन मौजूद थे।