नहीं रहे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह: 91 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा. - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

शनिवार, 19 जून 2021

नहीं रहे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह: 91 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा.

नहीं रहे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह: 91 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा.




भारत के ‘फ्लाइंग सिख’ के नाम से पूरी दुनिया में विख्यात महान फर्राटा धावक मिल्खा सिंह का कोरोना संक्रमण से शुक्रवार देर रात 11:30 बजे चंडीगढ़ में निधन हो गया, वे पिछले 1 महीने से कोरोना संक्रमण से जूझ रहे थे। इससे पहले रविवार को उनकी पत्नी और भारतीय वॉलीबॉल टीम की पूर्व कप्तान निर्मल कौर का भी कोना संक्रांति निधन हो गया था।

 

पूर्व ओलंपियन पद्मश्री मिल्खा सिंह (91 वर्ष)  19 मई को कोरोना संक्रमित मिले थे। इसके बाद फोर्टिस मोहाली में भर्ती रहे। बाद में परिजनों के आग्रह पर अस्पताल में छुट्टी लेकर सेक्टर-8 स्थित आवास पर ही इलाज करा रहे थे। 


3 जून को  मिल्खा सिंह की हालत बिगड़ने पर उन्हें PGI में भर्ती कराया गया था। बीते बुधवार को उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन संक्रमण के कारण वह बेहद कमजोर हो गए थे। शुक्रवार दोपहर अचानक उनकी तबीयत गंभीर हो गई। बुखार के साथ उनका आक्सीजन स्तर नीचे गिरने लगा। PGI के डॉक्टरों की सीनियर टीम उन पर नजर बनाए हुए थी लेकिन देर रात उनकी हालत बिगड़ गई और रात 11.40 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन के साथ भारतीय खेल के एक युग का अंत हो गया। इस दुखद सूचना से देश और दुनिया के खेल प्रेमियों में शोक की लहर फैल गई। 

5 दिन पहले ही पत्नी निर्मल कौर का हुआ था निधन

मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल कौर भी कोरोना संक्रमित थीं उनकी हालत गंभीर होने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनकी भी हालत कई दिनों तक स्थिर बनी हुई थी लेकिन 13 जून की शाम को उनका निधन हो गया। पत्नी की मौत के बाद परिजनों को लगने लगा था कि वे यह सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे , इसलिए पत्नी के निधन की खबर मिल्खा सिंह से छिपाकर रखी गई थी। परिजनों ने बताया कि दो दिन से मिल्खा सिंह पत्नी निम्मी से बात करने की जिद कर रहे थे। उन्होंने यह भी कहा था कि उनके सपने में निम्मी आ रही हैं और वे इस दुनिया चलीं गईं हैं। बता दें कि निर्मल कौर भारतीय वॉलीबाल टीम की पूर्व कप्तान थीं। साथ ही वह चंडीगढ़ के खेल निदेशक के पद पर भी रही थीं।

मिल्खा सिंह के निधन से आहत प्रधानमंत्री ने कहा नहीं पता था 4 जून को हुई बातचीत आखरी बातचीत होगी

मिल्खा सिंह की सेहत खराब होने पर प्रधानमंत्री ने स्वयं फोन कर उनका हाल पूछा था और उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की थी प्रधानमंत्री ने मिल्खा सिंह का हौसला बढ़ाते हुए उन्होंने कहा था कि देश के युवाओं को उनके मार्गदर्शन की जरूरत है और आप जल्द ही स्वस्थ होकर टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाएं

 

खेल मंत्री ने किया वादा- आपकी आखिरी इच्छा पूरा करेंगे

केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू ने ट्विटर पर मिल्खा सिंह का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि वादा करते हैं कि वह मिल्खा सिंह की आखिरी इच्छा को पूरा करेंगे। वीडियो में मिल्खा सिंह ये कहते हुए दिख रहे हैं कि उनकी आखिरी इच्छा है कि जैसे उन्होंने एथलेटिक्स में देश के लिए गोल्ड जीता, वैसे ही कोई देश का नौजवान देश के लिए रोम ओलंपिक में गोल्ड जीते और भारत का झंडा लहराए।