राजस्थान की अर्थव्यवस्था सामान्य ज्ञान । Rajsthan Economy GK in Hindi - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

गुरुवार, 20 जनवरी 2022

राजस्थान की अर्थव्यवस्था सामान्य ज्ञान । Rajsthan Economy GK in Hindi

 राजस्थान की अर्थव्यवस्था सामान्य ज्ञान 

राजस्थान की अर्थव्यवस्था सामान्य ज्ञान । Rajsthan Economy GK in Hindi


 

राजस्थान की अर्थव्यवस्था सामान्य ज्ञान 

  • भारत की अर्थव्यवस्था में राजस्थान का महत्वपूर्ण स्थान है। 
  • राजस्थान का क्षेत्रफल 3,42,239 वर्ग किलोमीटर है। इस दृष्टि से यह भारत का सबसे बड़ा राज्य 1 राजस्थान की जनसंख्या 2011 की ताजी जनगणना के अनुसार 6.86 करोड़ (प्रोविजनल) हो गई है। 
  • जनसंख्या की दृष्टि से भारत में राजस्थान का महत्वपूर्ण स्थान है। इस प्रकार भारत के क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़े राजस्थान राज्य में पूरे देश की जनसंख्या 121.02 करोड़ का 5.67 प्रतिशत भाग निवास करता है। इस विवरण से क्षेत्रफल और जनसंख्या में राजस्थान की महत्ता सहज रूप से स्पष्ट होती है।
  • अर्थव्यवस्था के विकास की गति को बढ़ाने के लिए प्राकृतिक और मानव संसाधन महत्वपूर्ण होते हैं । राजस्थान इन दोनों ही दृष्टि से समृद्ध प्रान्त है। 
  • प्राकृतिक संसाधनों में खनिजों की भरपूर उपलब्धता के कारण भारत में राजस्थान 'खनिजों के अजायबघर' के नाम से जाना जाता है। 
  • खनिज संपदा के बल पर आज राजस्थान देश के औद्योगिक परिदृश्य में तेजी से उभर रहा है। 
  • उद्योगों के साथ-साथ यहाँ की अर्थव्यवस्था में कृषि का भी बड़ा योगदान है। राजस्थान की मुख्य फसलें ज्वार, बाजरा, मक्का, चावल, जौ, चना, गेहूँ, तिलहन, दालें, कपास और तम्बाकू है। राजस्थान तिलहन विशेष रूप से सरसों के उत्पादन में उभरा है। इनके अलावा लाल मिर्च, मैथी, जीरा, हींग भी अन्य फसलें है। राजस्थान में पिछले कुछ वर्षों में सब्जियों तथा संतरा, माल्टा, नींबू, आंवला, अमरूद आदि फलों के उत्पादन में काफी वृद्धि हुई है।

 

राजस्थान की अर्थव्यवस्था में मानव संसाधन 

  • राजस्थान की अर्थव्यवस्था में मानव संसाधन की भूमिका बढ़ गई है। उल्लेखनीय है राजस्थान की साक्षरता दर 1991 में 38.55 प्रतिशत थी जो देश भर में बिहार की साक्षरता दर 37.19 प्रतिशत के बाद नीचे से दूसरे स्थान पर थी। 
  • वर्ष 2001 की जनगणना में राजस्थान की साक्षरता दर बढ़कर 60.41 प्रतिशत हो गई। वर्ष 2001 में राजस्थान साक्षरता दर में उत्तरप्रदेश, अरूणाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर, झारखण्ड, दादर और नगरहवेली से आगे बढ़ गया। 
  • साक्षरता दर 2011 और बढ़कर 67.06 प्रतिशत हो गई है। 1 राजस्थान ने हाल ही उच्च शिक्षा के क्षेत्र में तीव्र प्रगति की है। 
  • राजस्थान में विश्वविद्यालयों की संख्या में वृद्धि हो रही है। इस श्रृंखला में अजमेर में केन्द्रीय विश्वविद्यालय खुलना महत्वपूर्ण है। जोधपुर में आई.आई.टी. का खुलना बड़ी उपलब्धि है। इन बड़े निर्णयों से राजस्थान के ज्ञान क्रांति के क्षेत्र में तेजी से आगे बढ़ने की संभावनाएं है। आर्थिक और सामाजिक विकास के साथ राजस्थान का सामरिक महत्व भी है।

 

राजस्थान की  अर्थव्यवस्था की आधारभूत संरचना 

  • आर्थिक विकास में आधारभूत संरचना की महत्त्वपूर्ण भूमिका होती है। आधारभूत संरचना में जो क्षेत्र समृद्ध होते हैं उनका विकास तेज गति से होता है। आधारभूत संरचना को दो भागों में विभाजित किया जा सकता है। पहला भाग आधारभूत ढांचागत संरचना है इसमें परिवहन, विद्युत, संचार को सम्मिलित किया जाता है। इसके अलावा सिंचाई भी आधारभूत ढांचागत संरचना का भाग है क्योंकि कृषि विकास सिंचाई पर निर्भर है। 
  • आधारभूत संरचना का दूसरा भाग आधारभूत सामाजिक संरचना है। इसमें प्रमुख रूप से मानव संसाधन विकास को सम्मिलित किया जाता है राजस्थान का विकास के मामले में अग्रणी राज्य नहीं होने का कारण आधारभूत संरचना का अभाव है। बिना आधारभूत संरचना के विकास का पहिया घूम नहीं सकता है। राजस्थान सरकार आर्थिक विकास में आधारभूत संरचना की महत्ता को दृष्टिगत रखते हुए इसके विकास पर ध्यान केन्द्रित किये हुए है। 
  • राजस्थान की पंचवर्षीय योजनाओं में और वार्षिक योजनाओं में वित्तीय संसाधनों का बड़ा भाग आधारभूत संरचना पर खर्च किया जा रहा है। जैसे-जैसे राजस्थान में आधारभूत संरचना की स्थिति सुधर रही है वैसे-वैसे राजस्थान आर्थिक विकास में आगे बढ़ रहा है।


  • राजस्थान में आधारभूत संरचना विशेष रूप से परिवहन, ऊर्जा, सिंचाई, संचार और मानव संसाधन का प्रमुख योगदान है ।