जैसलमेर जिले की जानकारी |Jaisalmer District GK in Hindi - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

मंगलवार, 22 फ़रवरी 2022

जैसलमेर जिले की जानकारी |Jaisalmer District GK in Hindi

 जैसलमेर जिले की जानकारी 
(Jaisalmer District GK in Hindi) 

जैसलमेर जिले की जानकारी |Jaisalmer District GK in Hindi

जैसलमेर जिले की जानकारी

जैसलमेर की प्रशासनिक इकाईयां 

  • तहसील - 4
  • पंचायत समिति - 3 
  • संभाग- जोधपुर 

  • जैसलमेर की स्थापना भाटी राजपुत राव जैसल द्वारा त्रिकुट पहाड़ी पर की। 
  • मार्च 1949 में जैसलमेर रियासत को वृहद राजस्थान में शामिल किया गया और 6 अक्टूबर 1949 में जैसलमेर पृथक जिला बना । 

  • जैसलमेर सुवर्णनगरी, रेगिस्तान का गुलाब, राजस्थान का अण्डमान, हवेलियों व झरोकों की नगरी के नाम से विर है।

 

जैसलमेर महत्वपूर्ण तथ्य

 

  • जनतांत्रिक व पूर्ण उत्तरदायी शासन की स्थापना न करने वाली रियासत - जैसलमेर। 
  • माल / वल्ल - जैसलमेर का भौगोलिक नाम
  • थार का मरुस्थल विश्व का सर्वाधिक आबाद व वनस्पति वाला मरुस्थल है। 
  • ईश्वरी सिंह ने थार के मरुस्थल रूक्ष क्षेत्र कहा। 
  • ओला व कुंडा ( प्राचिन सभ्यताएं) - जैसलमेर। 
  • राजस्थान का पश्चिमी विस्तार कटरा सम जैसलमेर तक है। 
  • रेडक्लिफ रेखा से जैसलमेर की सीमा सर्वाधिक (464 किमी.) लगती है। 
  • रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्रफल में सबसे बड़ा जिला जैसलमेर है। 
  • राजस्थान में जिले के क्षेत्रफल में सबसे कम वन जैसलमेर में है। 
  • राजस्थान का सबसे शुष्क स्थान सम जैसलमेर है। 
  • सर्वाधिक दैनिक तापान्तर वाला जिला जैसलमेर।  
  • राजस्थान में न्यूनतम आर्द्रता वाला जिला जैसलमेर। 
  • जिला स्तर पर न्यूनतम वर्षा वाला जिला जैसलमेर (10 सेमी.) 
  • राजस्थान में होने वाली वर्षा के दिनों की न्यूनतम संख्या वाला जिला। 
  • राजस्थान में सबसे कम वर्षा वाला स्थान सम जैसलमेर (5सेमी.) । 
  • पश्चिमी रेगिस्तान क्षेत्र के जैसमेर व बाड़मेर जिले शुष्क सघनता वाले जिले हैं। 
  • राष्ट्रीय मरुउद्यान - राजस्थान का सबसे बड़ा वन्यजीव अभ्यारण जो आकल (गांव का नाम) वुड फोसिल (जीवाश्म उद्यान) के लिए प्रसिद्ध है। 
  • इन्दिरा गांधी नहर परियोजना का द्वितिय चरण जैसलमेर के मोहनगढ़ कस्बे में पूरा हुआ इसलिए मोहनगढ़ कस्बे को इन्दिरा गांधी नहर परियोजना का जीरा पाइन्ट कहते हैं। 
  • कावोद खारे पानी की झील। 
  • पोकरण खारे पानी की झील। 
  • चंदन नलकूप - जैसलमेर जिले के चांदन गांव में स्थापना की गई जिसे थार का घड़ा कहते हैं। 

लाठी सीरिज क्षेत्र - 

  • जैसलमेर में पोकरण से मोहनगढ़ तक पाकिस्तानी सीमा के सहारे विस्तृत एक भूगर्भिक मीठे जल की पेटी । इस लाठी सीरिज पर सेवण घास उगती है। सोनार किला पीले पत्थरों से बिना चुने के जोड़ के बना विशाल दुर्ग - जो सूर्य की रोशनी में सोने समान आभा बिखेरता है, इसी कारण इसे सोनार का किला कहा जाता है। इसके अन्य नाम त्रिकूटगढ़, गोरहरागढ़, जैसाणगढ़ आदि ।

 

रामदेवरा 

  • लोक देवता बाबा रामदेव जी का तीर्थ स्थल, यहां रामदेव का जन्म स्थान, परचा बावड़ी रामदेव सरोवर आदि हैं। 

तनोट माता

  • तनोट माता भाटी शासकों की कुल देवी मानी जाती है। इस देवी मंदिर में वर्तमान में सीमा सुरक्षा बल के जवान पुजा करते हैं। 


पटवों की हवेली

  •  इसे पांच भाइयों ने मिलकर बनाया था। यह चित्रकारी व नक्काशी के लिए प्रसिद्ध है।

 

  • राजस्थान में प्राकृतिक गैस पर आधारित प्रथम विधुत संयंत्र रामगढ़ जैसलमेर है। 
  • राजस्थान में सार्वजनिक क्षेत्र में प्रथम पवन ऊर्जा संयंत्र 1999 में अमर सागर जैसलमेर में लगाया। 
  • राजस्थान में सौर ऊर्जा उपक्रम क्षेत्र (SEEZ) - जैसलमेर, बाड़मेर और जोधपुर को घोषित किया गया है।
  • जैसलमेर राजस्थान पर्यटन विकास की दृष्टि से मरू त्रिकोण में आता है। 
  • अन्तर्राष्ट्रीय मरू महोत्सव जैसलमेर। 
  • पतंग महोत्सव - जोधपुर, जयपुर, जैसलमेर। 
  • नाचना ऊंट सवारी व तेज दौड़ की दृष्टि से महत्वपूर्ण । 
  • जैसलमेर जिले में गणगौर (चैत्र शुक्ल चतुर्थी) पर केवल गौर की सवारी निकाली जाती है। ईसर की नहीं। 
  • जैसलमेर जिले के घोटारू नामक स्थान पर हिलियम गैंस के भण्डार तथा तनोट, मनीहारी, टिब्बा स्थान पर प्राकृतिक गैस के भण्डार मिले हैं।