विश्व पर्यटन दिवस 2021 की थीम | विश्व पर्यटन दिवस 2021 का विषय | World Tourism Day 2021 Theme in Hindi - Daily Hindi Paper | RPSC Online GK in Hindi | GK in Hindi l RPSC Notes in Hindi

Breaking

शुक्रवार, 24 सितंबर 2021

विश्व पर्यटन दिवस 2021 की थीम | विश्व पर्यटन दिवस 2021 का विषय | World Tourism Day 2021 Theme in Hindi

विश्व पर्यटन दिवस 2021 की थीम 
विश्व पर्यटन दिवस 2021 का विषय 

 

विश्व पर्यटन दिवस 2021 की थीम | विश्व पर्यटन दिवस 2021 का विषय | World Tourism Day 2021 Theme in Hindi

संयुक्त राष्ट्र महासभा हर साल विश्व पर्यटन दिवस की विषय-वस्तु तय करती है। वर्ष 2021 में विश्व पर्यटन दिवस के लिए थीम समावेशी विकास के लिए पर्यटन  Tourism for Inclusive Growth रखी गयी है । 

 

विश्व पर्यटन दिवस की शुरुआत वर्ष 1980 में संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन के द्वारा की गई थी। इस तारीख के चुनाव का मुख्य कारण यह था कि इसी दिन वर्ष 1970 में विश्व पर्यटन संगठन का संविधान स्वीकार किया गया था। 

 

अब तक के सभी विश्व पर्यटन दिवस थीम (विषय की सूची) 


1980 का विषय "सांस्कृतिक विरासत और शांति और आपसी समझ के संरक्षण के लिए पर्यटन का योगदान" था। 

1981 का विषय "पर्यटन और जीवन की गुणवत्ता" था। 

1982 का विषय "यात्रा में गर्व: अच्छे मेहमान और अच्छे मेजबान” था। 

1984 का विषय "अंतरराष्ट्रीय समझशांति और सहयोग के लिए पर्यटन" था। 

1985 का विषय "युवा पर्यटन: शांति और दोस्ती के लिए सांस्कृतिक और ऐतिहासिक विरासत" था। 

1986 का विषय "पर्यटन: विश्व शांति के लिए एक महत्वपूर्ण शक्ति" था। 

1987 का विषय "विकास के लिए पर्यटन" था। 

1988 का विषय "पर्यटन: सभी के लिए शिक्षा" था। 

1989 का विषय "पर्यटकों का मुक्त आवागमन एक दुनिया बनाता है" था। 

1990 का विषय था "पर्यटन: एक अपरिचित उद्योगएक मुक्त सेवा"। 

1991 का विषय "संचारसूचना और शिक्षा: पर्यटन विकास की शक्ति कारक” था। 

1992 का विषय पर्यटन: एक बढ़ती सामाजिक और आर्थिक एकजुटता का कारक है और लोगों के बीच मुलाकात का" था। 

1993 का विषय "पर्यटन विकास और पर्यावरण संरक्षण: एक स्थायी सद्भाव की ओर" था। 

1994 का विषय "गुणवत्ता वाले कर्मचारीगुणवत्ता पर्यटन" था। 

1995 का विषय "विश्व व्यापार संगठन: बीस साल से विश्व पर्यटन में सेवारत" था। 

1996 का विषय "पर्यटन: सहिष्णुता और शांति का एक कारक" था। 

1997 का विषय "पर्यटन: इक्कीसवीं सदी की रोजगार सृजन और पर्यावरण संरक्षण के लिए एक अग्रणी गतिविधि " था। 

1998 का विषय "सार्वजनिक-निजी क्षेत्र भागीदारी: पर्यटन विकास और संवर्धन की कुंजी” था। 

1999 का विषय था "पर्यटन: विश्व धरोहर का नयी शताब्दी के लिये संरक्षण"। 

2000 का विषय "प्रौद्योगिकी और प्रकृति: इक्कीसवीं सदी के प्रारंभ में पर्यटन के लिए दो चुनौतियॉं" था। 

2001 का विषय "पर्यटन: सभ्यताओं के बीच शांति और संवाद के लिए एक उपकरण " था। 

2002 का विषय "पर्यावरण पर्यटन सतत विकास के लिए कुंजी" था। 

2003 का विषय "पर्यटन: गरीबी उन्मूलनरोजगार सृजन और सामाजिक सद्भाव के लिए एक प्रेरणा शक्ति" था। 

2004 का विषय "खेल और पर्यटन: आपसी समझ वालो के लिये दो जीवित बलसंस्कृति और समाज का विकास" था। 

2005 का विषय "यात्रा और परिवहन: जूल्स वर्ने की काल्पनिकता से 21 वीं सदी की वास्तविकता तक" था। 

2006 का विषय "पर्यटन को समृद्ध बनाना"। 

2007 का विषय "पर्यटन महिलाओं के लिए दरवाजे खोलता है" था। 

2008 का विषय "जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग की चुनौती का जवाब पर्यटन" था। 

2009 का विषय "पर्यटन - विविधता का उत्सव" था। 

2010 का विषय "पर्यटन और जैव विविधता” था। 

2011 की विषय "पर्यटन संस्कृति को जोड़ता है" था। 

2012 का विषय "पर्यटन और ऊर्जावान स्थिरता 'था। 

2013 का विषय "पर्यटन और जल: हमारे साझे भविष्य की रक्षा" था। 

2014 का विषय "पर्यटन और सामुदायिक विकास” था। 

2015 का विषय "लाखों पर्यटकलाखों अवसर" था। 

2016 का विषय "सभी के लिए पर्यटन - विश्वव्यापी पहुंच को बढ़ावा देना" होगा। 

वर्ष 2017 में विश्व पर्यटन दिवस के लिए थीम "सतत पर्यटन - विकास के लिए एक उपकरण" था। 

वर्ष 2018 में विश्व पर्यटन दिवस के लिए थीम "पर्यटन और सांस्कृतिक संरक्षण" था। 

वर्ष 2019 में विश्व पर्यटन दिवस के लिए थीम "टूरिज्म एंड जॉब्स: अ बेटर फ्यूचर फॉर आल" था। 

वर्ष 2020 में विश्व पर्यटन दिवस के लिए थीम "पर्यटन और ग्रामीण विकास" था।

वर्ष 2021 में विश्व पर्यटन दिवस के लिए थीम समावेशी विकास के लिए पर्यटन  Tourism for Inclusive Growth